|Best 101+| Judai Shayari in Hindi दर्दे मोहब्बत दर्दे जुदाई शायरी । (2023)

Judai Shayari in Hindi
5/5 - (1 vote)

दोस्तों अगर आप अपने प्यार से जुदा हो गए हैं और जुदाई का दर्द से गुजर रहे हैं तो हम आपके लिए कुछ ऐसी शायरियां लाए हैं जो आपके दिल को छू जाएंगे आज की पोस्ट में हम आपके लिए प्यार में जुदाई की शायरी लेकर आए हैं। यहां आपको हर तरह की जुदाई शायरी मिलेंगी जैसे-Judai Shayari in Hindi,judai shayari in english,judai shayari in urdu,judai sad shayari,judai shayari status,judai ki shayari, इन शायरी को आप कॉपी करके अपने whatsApp status पर भी लगा सकते है। 

 

Judai Shayari जुदाई शायरी

 
 
याद में तेरी आँखें भरता है कोई
हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई
मौत सच्चाई है एक रोज आनी है
लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज मरता है कोई।

Yaad me tere aankhe bharta hai koi
Har saans ke sath tujhe yaad karta hai koi
Maut sachhi hai ak rooj aani hai
Lekin tere judaai me har rooj marta hai koi...... 
 
 
कैसी यह जुदाई उसने कर दी 
कि उसको अलविदा भी ना कह पाए हम 
था उसकी सादगी में फ़रेब इतना 
कि उसको बेवफा भी ना कह पाए हम । 

Kesi ye judai usne kar di
Ki usko alwida bhi na khe paye hum
Tha uski sadgi me fareb itna
Ki usko bewafa bhi na khe paye hum.....

 

judai shayari in hindi image
judai shayari in hindi image

 

उनकी तस्वीर को सीने से लगा लेते है
इस तरह जुदाई का गम उठा लेते है
किसी तरह ज़िक्र हो जाए उनका
तो हंस कर भीगी पलके झुका लेते है।

Unki Tasbir Ko Seene Se Laga Lete Hain
Iss Tarah Judai Ka Gham Uthha Lete Hain
Kisi Tarah Jikr Ho Jaye Unka
To Hans Kar Bhigi Palkein Jhuka Lete Hain..... 

Read More-

100+ Mohabbat Shayari in Hindi 2024 

 

मुद्दत से जिसके वास्ते दिल बेकरार था
वो लौट के ना आया जिसका इंतजार था
मंजिल करीब आई तो वो दूर हो गया
इतना तो बता जाता कि ये कैसा प्यार था।

Muddat se jiske baste dil bekaraar tha
Vo laut ke na aya jiska intezaar tha
Manzil kareeb aaye toh vo door ho gya
Itna toh bata jata ki ye kaisa pyar tha.... 

 

 

हर मुलाक़ात पर वक्त का तकाज़ा हुआ
हर याद पर दिल का दर्द ताज़ा हुआ
सुनी थी सिर्फ लोगों से जुदाई की बातें
खुद पर बीती तो हकीकत का अंदाज़ा हुआ।

Har mulakaat par waqt ka takaja hua
Har yaad par dil ka dard taza hua
Suni thi sirf logo se judai ki batein
Khud par biti toh haqikat ka andaja hua.... 

Judai shayari 2 line (जुदाई शायरी 2 लाइन) 

 

Judai shayari in hindi image for whatsapp
Judai shayari in hindi image for whatsapp

 

ना मैं बुरा था ना उसमे कोई बुराई थी
बस वक़्त का खेल था किस्मत में जुदाई थी।

Na mai bura tha na usme koi burai thi
Bas waqt ka khel tha kismat me judai the... 

 

मत करना किसी लड़की से प्यार ये बेवफ़ा होती है
हस्ती हुई आँखों को एक दिन रोता हुआ छोड़ देती हैं। 

Mat karna kise ladkey se pyar ye bewafa hote hai
Hasti hui ankhon ko ak din rota hua chhod dete hai..... 

 

किसी से जुदा होना इतना आसान होता तो
जिस्म से रूह को लेने फरिश्ते नहीं आते । 

Kise se juda hona itna asan hota toh
Jism se rooh ko lene farishte nhi aate... 

 

बस अपनी इतनी ही बदकिस्मती है साहब
जो चाहा वह मिला नहीं और जो मिला वह मेरा कभी हुआ नहीं। 

Bas apni itni hi badakismati hai sahab
Jo chaha vo mila nhi aur jo mila
Vo mera Kabhi hua nhi.... 

 

ना जाने मेरी मौत कैसी होगी
पर ये तो तय है तेरी जुदाई से बेहतर होंगी।

Na jane mere maut kaise hogi
Par ye toh tay hai tere Judai se behtar hogi... 

 

जो पूछो तुम मैं ना बताऊं ऐसे तो हालात नहीं
एक छोटा सा दिल टूटा है और तो कोई बात नहीं। 

Jo pucho tum mai na batau aise toh haalaat nhi
Ak chota sa dil hi toh toota hai aur toh koi baat nhi.... 

 


तुम्हें ही सहना पड़ेगा गम जुदाई का
हमारा क्या है हम तो मर जाएंगे। 

Tumhein hi sahna padega gam judai ka
Hamaara kya hai hum toh mar jayenge.. 

 

जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।

Jaate-Jaate Uske Aakhiri Alfaz Yahi The
Jee Sako Toh Jee Lena Mar Jaao Toh Behtar Hai.... 

 

 

judai photo hd
judai photo hd

 

Judai shayari rekhta hindi(जुदाई शायरी रेख़्ता) 

 

कहीं किसी से भी जिक्र ए जुदाई मत करना
इन आंसुओं को कभी रोशनाई मत करना
जहां से जी ना लगे तुम वही बिछड़ जाना
मगर खुदा के लिए बेवफाई मत करना। 

Kahi kise se bhi zikr e judai mat karna
Inn Aasuon ko kabhi roshnai mat karna
Jaha se jee na lage tum vahi bichad jana
Magar khuda ke liye bewafai mat karna... 

 

एक सिलसिले की उमीद थी जिनसे वही फासले बनाते गए
हम तो पास आने की कोसिस में थे
ना जाने क्यों वो दूरियाँ बढ़ाते गए। 

Ak silsile ki ummeed the jinse vahi fasle banate gaye
Hum toh paas ane ki koshish me the
Naa jane kyu vo dooriyaan badate gaye... 

 

अगर मुझसे मोहब्बत नहीं तो रोते क्यों हो
तन्हाई में मेरे बारे में सोचते क्यों हो
अगर मंज़िल जुदाई है तो जाने दो मुझे
लौट के कब आओगे पूछते क्यों हो । 

Agar Mujhse mohabbat nhi toh rote kyu ho
Tanhai me mere bare me sochte kyu ho
Agar manzil judai hai toh jane do mujhe
Laut ke kab aaoge puchte kyu ho... 

 

दिल को मेरे ये एहसास भी नहीं है
कि अब मेरा यार मेरे पास नहीं है
उसकी जुदाई ने वो ज़ख्म दिया हमें
जिंदा भी न रहे और लाश भी नहीं है। 

Dil ko mere ye ehsas bhi nhi hai
ki ab mera yaar mere pass nhi hai
uski judai ne wo jakhm diya humein
zinda bhi na rahe aur lash bhi nhi hai.... 

Dard e judai shayari in hindi 

 

उसकी जुदाई में आज यादें तड़पाती हैं
याद में उसकी अब तो रातें गुजर जाती हैं
कभी नींद नहीं आती है आँखों में
तो कभी नींद से आँखें ही मुकर जाती हैं।

Uske judai me aaj yaadein tadpate hai
Yaad me uske ab toh raaten gujar jaate hai
Kabhi nind nhi aate hai aankho me
Toh kabhi nind se aankhe hi mukhar jate hai.... 
 
 
वो जिस्म और जान जुदा हो गए आज
वो मेहेंदी के रंग में खो गए आज
हमने चाहा जिन्हें सिद्दत से
वो उम्र भर को किसी और के हो गए आज । 

Vo jism aur jaan se juda ho gaye aaj
Vo mehndi ke rangon me kho gaye aaj
Humne chaha jinhe siddat se
Vo umar bhar ko kise aur ke ho gaye aaj... 
सर्द रातों में सताती है जुदाई तेरी
आग बुझती नहीं सीने में लगाई तेरी
तू तो कहती थी बिछड़ के सुकून पा लेंगे
फिर क्यों रोती है मेरे दर पे तन्हाई तेरी । 

Sard raaton me satati hai judai teri
Aag bhujhte nhi sene me lagai tere
Tu toh kehte the bichad ke sukoon paa lenge
Fir kyu rote hai mere dar par tanhai teri..... 
 
नहीं था यकीन कभी मुझे
मिलना पड़ेगा जुदाई के बाद
फिर भड़क उठगेंगे जज़्बात मेरे
तुम्हारी उस बेवफाई के बाद । 

Nahi tha yakeen kabhi mujhe
Milna padega judai ke baad
Fir bhadak uthenge jazbat mere
Tumhari us bewafai ke baad…

judai shayari status(intezaar judai shayari) 

 
 
दिल को आता हैं जब भी ख़याल उनका
उनकी तस्वींर से पुछते हैं हाल उनका
वो मुझसे पुछते थे जुदाई क़्या हैं
अब जाकें हमें समझ आया सवाल उनका।  

Dil ko aata hai jab bhii khayal unka
Unki tasveer se poochte hai haal unka
Wo mujhse se puchte thee judai kya hai
Ab jake hame samajh aaya sawal unka..
हो जुदाई का सबब कुछ भी मगर
हम उसे अपनी खता कहते हैं
वो तो साँसों में बसी है मेरे
जाने क्यों लोग मुझसे जुदा कहते हैं । 

Ho judai ka sabab kuch bhi magar
Hum use apni khata kehte hai
Vo toh sanso me basi hai mere
Jane kyu log Mujhse juda kehte hai... 
 
 
आओ किसी रोज मुझे टूट के बिखरता देखो
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो
किस किस अदा से तुझे मागा है खुदा से
आओ कभी मुझे सजदो में सिसकता देखो |

Aao kisi roz mujhe tut ke bikharte dekho
meri rangon mein jahar judai ka utarte dekho
kis kis andaj se tujhe manga hai khuda se
aao kabhi mujhe sajado me siskaat dekho.... 

 

हमें मालूम है दो दिल जुदाई सह नहीं सकते
मगर रस्मे-वफ़ा ये है कि ये भी कह नहीं सकते 
जरा कुछ देर तुम उन साहिलों कि चीख सुनलो 
जो लहरों में तो डूबे हैं, मगर संग बह नहीं सकते । 

Hame maloom hai do dil judai sah nhi sakte
Magar rashme wafa ye hai ki ye bhi keh nhi sakte
Jara kuch der tum unn sahilo ki chikh sunn loo
Jo lahro me dhube hai magar sang beh nhi sakte.... 

judai ki shayari(judai shayari urdu) 

 

जहर मोहब्बत का पी लिया
अब गम जुदाई का उठा रहा हूँ मैं
सहकर सितम तेरी बेवफाई का
आज तेरी दुनिया से जा रहा हूँ मै । 

Zeher mohabbat ka pi liya
Ab gam judai ka utha raha hu me
Sehkar sitam teri bewafai ka
Aaj teri duniya se jaa raha hu me…
 
 
दर्दे जुदाई सहने की आदत सी हो गई
गम ना किसी से कहने की आदत सी हो गई
होकर जुदा भी यार ने ले लिया जीने का वादा
रोते हुए भी जिंदा रहने की आदत सी हो गई। 

Dard E Judai Sahne Ki Aadat Si Ho Gayi
Gham Na Kisi Se Kahne Ki Aadat Si Ho Gayi
Hokar Juda Bhi Yaar Ne Le Liya Jeene Ka Wada
Rote Huye Bhi Jinda Rahne Ki Aadat Si Ho Gayi…
 

dard bhari judai shayari(majburi me judai shayari) 

 
 
 
ये कैसी जुदाई है जिसने हमें शायर बना दिया 
ये कैसा गम है जिसने हमें बेबस बना दिया 
सोचा नहीं था जुदा हो जाओगे हमसे कभी 
करते भी क्या जब आप ने ही गैर बना दिया। 

Ye kaise judai hai jisne hame shayar bana diya
Ye kaisa gam hai jisne hame bebas bana diya
Socha nhi tha juda ho jaoge hamse kabhi
Karte bhi kya jab aap ne hi gair bana diya... 
 
 
एक बात तो बताओ
मोहब्बत कि हर गली गुमनाम क्यूँ है ? 
जुदाई और मौत इश्क का अंजाम क्यूँ है? 
लोग देते हैं नाम इसे पाकीजगी का
तो ये मोहब्बत इतनी बदनाम क्यूँ है? 

 
Ek baat toh batao
Mohabbat ki har gali gumnaam kyun hai
Judai aur maut ishq ka anjaam kyun hai
Log dete hain naam ise paakizaagi ka
Toh yeh mohabbat itni badnaam kyun hai.... 
 
 
हर बार मुझे जख्म ए जुदाई ना दिया कर
अगर तू मेरा नहीं तो मुझको दिखाई ना दिया कर
सच झूठ तेरी आंखों से हो जाता है जाहिर
कसमे ना उठा इतनी सफाई ना दिया कर। 

Har bar mujhe zakhm e judai na diya kar
Agar Tu mera nhi toh mujhko dikhai na diya kar
Sach jhooth tere aankhon se ho jata hai jahir
Kasme na utha itne safai na diya kar... 

End of Post- Judai shayari in hindi

 

दोस्तों आपको हमारी आज की Post –  Best 101+|Judai Shayari in Hindi  दर्दे मोहब्बत दर्दे जुदाई शायरी । (2023)  कैसी लगी हमें comment करके जरूर बताये अगर आपको हमारी शायरी पसन्द आयी हो तो आप इन्हे अपने दोस्तों को भी whatsApp, Instagram, और Facebook पर जरूर share kare.
Post by dardbharishayari.com
Thank you

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *